Thanks To Demonetisation Rajasthan Girl Saved From Being Sold Into Flesh Trade By Her Own Family

by -

जयपुर। नोटबंदी की वजह से सब नकदी की समस्या से परेशान है। लोग बैंकों और एटीएम के बाहर लंबी-लंबी लाइनों में अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। नकदी की वजह से कई लोगों की मौत की खबरें भी आई, लेकिन आज जो खबर हम आप को बताने जा रहे हैं उसे जानकर आप कहने पर मजबूर हो जाएंगे कि नोटबंदी एक अच्छा कदम साबित हुआ है। राजस्थान की एक लड़की की जिंदगी नोटबंदी ने बचा ली।


राजस्थान के अलवर में सरकार के इस फैसले ने एक लड़की को बिकने से बचा लिया। 21 साल की लड़की को उसके भाई ने ही बेच दिया। एजेंट के साथ उसका सौदा 20 लाख रुपए में हुआ। सारी बातें तय हो गई। डील पूरी तरह से फाइनल हो गई थी। लेकिन दलाल पैसे लेकर आता इससे पहले ही सरकार ने नोटबंदी का ऐलान कर दिया।


नोटबंदी की वजह से दलाल पैसों का इंतजाम नहीं कर सका। उसने पैसे चेक से देने की बात कही, लेकिन लड़की का भाई नहीं माना। इस बात को लेकर दोनों की बहस होने लगी। इसी बीच मौका पाकर लड़की वहां से फरार हो गई और सीधे पुलिस थाने पहुंच गई। लड़की ने अलवर के एडिशनल एसपी पारस जैन को पूरी बात बताई।


लड़की बात बातक सुनकर पुलिस ने फौरन उसे महिला पुलिस स्टेशन भेजा गया और बयान दर्ज कर लिया । वहीं पुलिस ने फौरन कार्रवाई करते हुए लड़की के भाई को गिरफ्तार कर लिया। आपको बता दें कि नोटबंदी के फैसले के बाद बैंक और एटीएम से कैश निकालने की सीमा काफी कम कर दी गई है। एटीएम से जहां एक दिन में 2500 रुपए निकाल सकते हैं, वहीं बैंक खाते से एक हफ्ते में 24 हजार रुपए निकाल सकते हैं।




News Source

Related Stories