Government gears up to facilitate Aadhar based financial transactions through mobile phone

by -

नई दिल्‍ली। नोटबंदी के फैसले के बाद मोदी सरकार कैशलेस ट्रांजेक्‍शन को बढ़ावा देने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है। इसी क्रम में जल्‍द ही सभी प्रकार के डिजिटल लेन-देन को आधार नंबर से जोड़ा सकता है। सीधे शब्‍दों में कहें तो आपको शॉपिंग या लेन-देन के लिए डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड की जगह आधार नंबर का इस्तेमाल करना होगा और उसी के जरिए आपके सारे लेन-देन होंगे।


आपको बता दें कि सरकार डिजिटल पेमेंट को मजबूत करना चाहती और नीति आयोग इस बारे में कई कदम उठा रहा है। इसके तहत जल्‍द ही कैश ट्रान्‍जैक्‍शन को हतोत्‍साहित करने की खातिर नीति भी बनाई जा सकती है। यूनिक आइडेन्टिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) के डायरेक्‍टर जनरल अजय पांडे ने बताया कि आधार से जुड़े ट्रांजैक्शन कार्ड-रहित और पिन-रहित होंगे।


इसकी मदद से एंड्रॉयड मोबाइल फोन यूजर्स अपने आधार नंबर और फिंगरप्रिंट के जरिए डिजिटल ट्रांजैक्शन कर सकेंगे।" नीति आयोग इसके लिए देश के सभी मोबाइल बनाने वाली कंपनियों से भी बात कर रहा है। आपको बता दें कि 12 डिजिट वाला आधार नंबर 1.08 करोड़ लोगों को जारी किया जा चुका है। सरकार का कहना है कि देश के 99% एडल्ट इसके दायरे में आ चुके हैं।




News Source

Related Stories